Power plant Kya Hai | Types of power plant. – 2020 RIGHT

0
195
Power plant Kya Hai
Power plant Kya Hai
81

Power plant Kya Hai

Power plant इसका उपयोग बिजली बनाने मे किया जाता है हमारे घरों मे उद्योगों मे उपयोग मे आने बाली बिजली power plant से ही आती है।

Power plant कितने प्रकार के होते है?

Power planto को उनके बिजली उत्पादन करने के आधार पर विभाजित किया गया है
  • Hydro power plant 
  • Thermal power plant 
  • Nuclear power plant 
  • Solar power plant 
  • Tidal power plant 
  • Wind power plant
Hydro power plant – इस power plant मे नदी के पानी को रोक कर नदी के बीच मे एक डेम का निर्माण किया जाता है डेम मे पानी की धारा को जाता है। उस पानी की धारा को तेजी से turbine पर गिराया जाता है।जिससे turbine घूमने लगती है।
और turbine की शाफ्ट जनरेट से जुडी होती है। जिससे जब जल धारा गिरने से turbine घूमती है। तो जेनरेटर भी घूमता है। और जेनरेटर के घूमने से बिजली का निर्माण होता है। और भारत मे hydro power plant को NHPC यानी national hydro – electric power corporation संचालित करती है।

India का सबसे बड़ा hydro electric power plant-

भारत मे सबसे बड़ा hydro electric power plant महाराष्ट्र के सतारा जिले मे कोयना नदी पर बना है। इसकी बिजली उत्पादन क्षमता 1960 मेगावाट है। यह अभी तक का भारत का हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्लांट है।
NHPC national hydro electric power corporation भारत के अरुणाचल प्रदेश मे भारत सबसे बड़ा पावर प्लांट बना रही है। जिसका नाम दिबांग है इसकी उत्पादन क्षमता 3000 मेगावाट है। यह NHPC की क्षमता का 50% है।दिबांग अनुमानित लागत 16000 करोड़ है।

Thermal power plant

Power plant Kya Hai
Power plant Kya Hai
को NTPC (national thermal power corporation ) इसे संचालित करता है भारत का सबसे बड़ा thermal power plant विंध्याचल सुपर थर्मल power स्टेशन है यह मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले मे है इस power plant की capacity 4760 मेगावाट है और यह वर्तमान मे भारत का सबसे बड़ा power plant है 
Thermal power plant मे कोयलेकोयलेu का उपयोग करके बॉयलर मे पानी को वाष्प मे बदला जाता है उस वाष्प का उपयोग करके उसकी सहायता से turbine को घुमाया जाता है जिससे जेनरेटर जुड़ा होता है turbine के घूमने से जनरेट भी घूमता है और बिजली पैदा होती है इस बिजली का उपयोग घरों और उद्योगो मे किया जाता है
Thermal power plant के चार प्रमुख घटक होते है
  • भट्टी
  • वॉयलर
  • Turbine
  • Condenser
  • Pump
भट्टी – इसमें कोयले का उपयोग करके आग को जलाया जाता है जिससे ऊष्मा पैदा होती है जिस का उपयोग thermal power plant मे बायलर मे पानी को गर्म करने मे किया जाता है
बॉयलर – इसका उपयोग पानी को वाष्प मे बदलने मे किया जाता है इसमें पानी को भट्टी की सहायता से गर्म किया जाता है जिससे वाह वाष्प मे बदल जाता है
Turbine – इसका जेनरेटर की शाफ्ट की घुमाने मे किया जाता है इसमे वाष्प को उच्च वेग से turbine पर भेजा जाता है जिससे turbine घूमने लगती है और जेनरेटर भी घूमता है जिससे बिजली बनती है
Condenser – इसका उपयोग गर्म भाप को ठंडी करने मे किया जाता है इसमें turbine से निकली भाप को ठंडी करने के बाद बॉयलर मे दोबारा भेज दिया जाता है
Pump – इसका उपयोग condenser से ठंडी हुई भाप को बॉयलर मे दोबारा भेजने मे किया जाता है इसकी सहायता से ठंडी हुई भाप जब पानी. मे बदल जाती है तो उसे बॉयलर मे दोबारा भेज दिया जाता है

Nuclear power plant –

यह power plant भी thermal power plant कि तरह ही होता है thermal power plant मे बॉयलर मे पानी को कोयले से भाप मे बदला जाता है और नुक्लेअर power plant मे पानी को भाप मे यूरेनियम से नुक्लेअर रिएक्शन करा कर बॉयलर को ऊष्मा दी जाती है जिससे पानी भाप मे बदल जाता है
इंडिया मे नुक्लेअर power plant को NPCIL चलाती है नुक्लेअर power plant मे भी thermal power plant किया तरह ही बॉयलर से पानी को भाप मे बदल कर turbine को घुमाया जाता है जिससे बिजली बनती है
Solar power plant – सोलर power plant मे सूर्य से आने बाली ऊष्मा का उपयोग करके बिधुत बनायीं जाती है सौर बिधुत ऊर्जा 2 प्रकार से बनायीं जाती है
प्रकाश बिधुत सेल की सहायता से इसमे प्रकाश बिधुत सेल को एक पैनल मे लगाया जाता है उस पैनल को सूर्य के प्रकाश मे रखा जाता है जिससे सूर्य से आने बाली फ़ोटॉन किरणें उस पैनल मे पड़ती है जिससे फ़ोटॉन ऊर्जा ऊर्जा उत्पन्न होती जो उन सेलो पर पड़ती है जिससे वह बिधुत ऊर्जा मे बदल जाती है।
सूर्य से आने बाली ऊष्मा का उपयोग करके किसी तरल (वह तरल पानी भी हो सकता है ) को भाप मे परिवर्तित करके उस भाप की सहायता से turbine को चलाया जाता है जिससे जेनरेटर जुड़ा रहता जिससे बिजली बनती है
Tindal power plant – Tindal power plant को ज्वार भाटा power plant भी कहते है ज्वार भाटा power plant को समुद्र के किनारों पर लगाया जाता है यह power plant समुद्र मे आने बाले ज्वार भाटा (लहरे ) से चलता है इसमे समुद्र के किनारे पर एक turbine लगायी जाती है जो की समुद्र मे आने बाली लहरों से घूमती है जिससे जेनरेटर जुड़ा होता हे जो turbine के साथ घूमता है जिससे बिजली बिजली बनती है।
Wind power plant – यह plant ऊँचे स्थानों पर लगाया जाता है इस Power plant Kya Hai एक पंखा होता है जो हवा के चलने से घूमता है और इस पंखे से जेनरेटर जुड़ा हुआ होता है जो पंखे के साथ घूमता है जिससे बिधुत धारा उत्पन्न होती है भारत मे Wind power plant की सहायता से कुल बिधुत धारा 37.505 GW बनायीं जाती है और भारत दुनिया का चौथा सबसे ज्यादा हवा से बिजली बनाने बाला देश है.

Was this helpful?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here