Web Hosting Kya Hai? | और होस्टिंग से जुडी पूरी जानकारी हिंदी में जानिए – 2020 RIGHT

0
209
Web Hosting Kya Hai?
Web Hosting Kya Hai?
82
Web Hosting Kya Hai? और वेब होस्टिंग काम कैसे करती है और वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है आज के इस आर्टिकल में आप होस्टिंग से सम्बंधित जानकारी जानेंगे|
आज के समय में मार्केट में बहुत सारे होस्टिंग कंपनी आ चुकी है और सभी कंपनी आपको 24×7 hours के सपोर्ट और अन्य सुविधाएं प्रदान करती है ऐसे आप अगर एक बिगिनर है और अच्छा होस्टिंग प्लान parchase करने की सोचा रहे है तो आप कंफ्यूज हो जाते है की कहाँ से आपको best वेब होस्टिंग मिलेगी |
तो आज की इस बिगिनर गाइड में आप पूरा पढ़िए | क्योंकि आज की इस में हम आपको होस्टिंग की बारे a2z सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से देने वाले है जिसे पढ़ने के बाद आप आपके लिए एक अच्छा होस्टिंग प्लान select कर पाएंगे और आखिरी में हम आपको कुछ best होस्टिंग कंपनी की नाम भी बताएँगे |

Web Hosting Kya Hai?

Web Hosting Kya Hai?
Web Hosting Kya Hai?
Web hosting वह ऑनलाइन storage होती है जहाँ पर किसी वेबसाइट की coding, images, videos और अन्य जरुरी डाटा और फ़ाइल save होती है और जिहे browser के address बार में web address (domain name ) डालकर कोई भी ऑनलाइन इंटरनेट पर देख सकता है और एक्सेस कर सकता है
ठीक है ये परिभाषा थोड़ी ज्यादा Technical हो चुकी है तो चलिए मैं आपको इसे एक साधारण से उदाहरण की माध्यम से web hosting की बारे में समझाता हूँ |
जब आप एक घर बनाते है तो आपको जिस प्रकार से एक घर बनाने के लिए सबसे पहले ज़मीन की जरुरत पडती है और फिर उस तक आने जाने के लिए एक रास्ते है की और जब आप एक रास्ते से कनेक्ट होते है तो फिर आपके पास आपका एड्रेस भी आ जाता है.
ठीक इसी प्रकार से यहाँ पर जो ज़मीन है वह है web hosting है जहाँ पर आप अपना घर (वेबसाइट ) बनाते है और इंटरनेट वह रास्ता है जिससे कनेक्ट होने की बाद आप बाहरी दुनिया से जुड़ सकते है और domain name आपका एड्रेस है और आप इंटरनेट की रास्ते पर चलकर उस एड्रेस (domain name) तक पहुंच सकते है.
जिस तरह से हर कोई सिर्फ घर बनाने के लिए ज़मीन नहीं खरीद सकता है तो क्या करते है की हम घर को रेंट पर ले लेते है ठीक है उसी प्रकार से हम होस्टिंग को रेंट पर लेते है. जिसको हम remotely एक्सेस कर सकते है और जितने समय की लिए हम use रेंट पर लेते है उस पर हमारा अधिकार होता है.
Technically होस्टिंग या server जिसे हम अपनी वेबसाइट की फ़ाइल और डाटा को स्टोर करने की लिए रेंट खरीदते है वह एक कंप्यूटर होता है जो की 24 hours इलेक्ट्रिसिटी से जुडा हुआ होता है और साथ ही में वह 24 घंटे हाई स्पीड इंटरनेट से जुडा हुआ होता है.
जिस प्रकार से एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर को हम एक नेटवर्क में कनेक्ट करके उसमें डाटा का आदान प्रदान कर सकते है ठीक उसी प्रकार इंटरनेट इस दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है जिसमें जुड़ने की बाद उस कंप्यूटर में host आपकी साइट का डाटा कोई भी अपने कंप्यूटर में एक्सेस कर सकता है और देख सकता है.
अगर आप इंटरनेट की कार्य प्रणाली की बारे में और नेटवर्किंग की बारे में जानना चाहते है तो इस विषय पर हमने एक पूरी सीरीज बनाई है जिसे आप पढ़ सकते है जिससे आपको होस्टिंग के कार्य प्रणाली का अच्छा आईडिया मिलेगा|
मुझे लगता है की आपको इस उदाहरण से समझ आ गया होगा की web hosting क्या होती है तो चलिए अब हम जान लेते है की होस्टिंग आखिर काम कैसे करती है

Hosting कितने प्रकार की होती है?

होस्टिंग दो प्रकार की होती है और अब हम आपको होस्टिंग के इन्ही प्रकारों की बारे में आपको बताने वाले है चलिए एक एक कर होस्टिंग के इन सभी प्रकारों की बारे में जान लेते है
Windows hosting – जैसा की मैंने आपको बताया था की जो भी होस्टिंग या सर्वर खरीदते है होस्टिंग की रूप में वह एक कंप्यूटर होता है और windows होस्टिंग हमें हमारे सर्वर पर windows ऑपरेटिंग सिस्टम वाला कंप्यूटर सर्वर के रूप में में दिया जाता है
चूँकि आप सभी जानते है की windows ऑपरेटिंग सिस्टम को चलाने के लिए आपको एक key की जरुरत पडती है जो की आपको खरीदनी पडती है और इसी कारण से यह होस्टिंग महँगी होती है और इसमें आपको ज्यादा functionality और एप्लीकेशन सपोर्ट मिलता है
Linux hosting – इस होस्टिंग में आपको लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम मिलता है चूँकि लिनक्स एक फ्री ऑपरेटिंग सिस्टम है इसीलिए यह होस्टिंग आपको बहुत दाम पर मिल जाती है
ये तो होस्टिंग के दो प्रकार से और आप जब होस्टिंग खरीदने जाएँगे, तो आपको अलग तरह की होस्टिंग प्लान दिखाए जाएँगे जो की कुछ इस तरह होते है.
  • Shared Hosting
  • Vps hosting 
  • Cloud hosting
  • Dedicated server 
  • Reseller hosting  
Shared hosting – यह web hosting का सबसे common टाइप है और जिसने भी पहले होस्टिंग उपयोग किया है अगर आप उनसे भी होस्टिंग के बारे में पूछेंगे, तो वह आपको shared होस्टिंग ही रेफेर करेंगे |
Shared होस्टिंग में आपको अपना सर्वर होस्टिंग प्रोवाइडर के अन्य कस्टमर की साथ शेयर करना पड़ता है और उसी सर्वर के साथ आपको अन्य रिसॉर्स शेयर karne पढ़ते है जैसे की डिस्क स्पेस |
vps hosting – इसको हम virtual private server भी कहते है vps hosting में भी आपको अपना server तो शेयर करना पड़ता है परन्तु इसमें आपको कंपनी की तरफ से एक अलग पार्टीशन दे दिया जाता है और यह मीडियम साइज bussines के लिए यह परफेक्ट प्लान होता है
Cloud hosting – यह आज की ज़माने में सबसे ज्यादा पॉपुलर और reliable भी है क्योंकि इसमें आपकी साइट एक बहुत सारे server पर होस्ट होती है अगर एक server बिजी हो जाता है तो ऑटोमेटिकली आपका सारा traffice दूसरे server पर route होने लगता है इस hosting का डाउनटाइम बहुत कम और स्पीड जबरदस्त होती है
Dedicated server – इस होस्टिंग प्लान में आपको अपना server किसी के साथ शेयर नहीं करना पड़ता है और आपको कंपनी की तरफ से आपको एक पूरा सर्वर दे दिया जाता है जिसको आप अपने हिसाब से उपयोग कर सकता है
यह बहुत ही तेज और फ़ास्ट apeed वाली होस्टिंग होती है और यह कितना भी traffice आराम से हैंडल कर लेती है और यह सभी से महंगी होस्टिंग होती है
Reseller hosting – reseller hosting उनके लिए होती है जिसमें जिनको अपनी खुदकी hosting सर्विस ओपन करनी है और आपके खुदके server नहीं बना सकते है तो यह कंपनियों से server खरीद कर उनमे छोटे छोटे पार्टीशन कर sell करते है और इस तरह की hosting सर्विस को reseller hosting कहते है

Best hosting providers

ये कुछ best hosting प्रोवाइडर कंपनियां है जो बेहद फेमस है और अच्छी hosting सर्विस प्रोवाइड करते है

Conclusion –

मुझे उम्मीद है की आपको हमारी आज की यह पोस्ट पसंद आयी होंगी, इसी तरह की जानकारी की लिए बने रहिए हमारे साथ | thankyou!

Was this helpful?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here